महिलाओं के नाम पर प्रॉपर्टी खरीदें, और पाए दोहरा लाभ: सस्ता लोन और रजिस्ट्री में छूट! | How to take loan against property in woman's name

अगर आप प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं, तो ये डॉक्यूमेंट्स तैयार रखें और स्टाम्प ड्यूटी में भी पाएं छूट

महिलाओं के नाम पर प्रॉपर्टी खरीदें, और पाए दोहरा लाभ: सस्ता लोन और रजिस्ट्री में छूट! | How to take loan against property in woman's name


नवरात्रि के साथ ही फेस्टिव सीजन की शुरुआत हो चुकी है। लोग अपने सपनों का घर खरीदने का प्लान कर रहे हैं। ऐसे में होम लोन के लिए जरूरी दस्तावेज तैयार रखें, ताकि वेबजह परेशान न होना पड़े। बैंकों ने भी जनता के लिए अलग से टोल फ्री नंबर जारी किए हुए हैं, जहां प्रॉपर्टी खरीदने वालों को बेहतर तरीके से सही जानकारी मिल रही है। बैंक खुद अपने प्रतिनिधियों को ऐसे लोगों के पास भेज रहे हैं, जो इस नवरात्र और त्योहारी सीजन में फ्लैट या अन्य प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं।

ये दस्तावेज जरूरी (These documents are necessary)

  • पैन कार्ड, आधार कार्ड, कम से कम पांच माह की सैलरी स्लिप,
  • फॉर्म-16, इनकम टैक्स रिटर्न की कॉपी, बैंक स्टेटमेंट
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र, किरायानामा जरूरती हैं।

यदि आप व्यवसाय कर रहे हैं (If you are doing business)

होम लोन के लिए कम से कम तीन वर्ष का इनकम टैक्स रिटर्न दिखाना होगा। इसके अलावा बैंक स्टेटमेंट की आवश्यकता होती है।

रजिस्ट्री के लिए ये डोक्युमेंट्स साथ में रखें (Documents for registry)

  • आधार कार्ड, पैन कार्ड और दो फोटो 
  • आईडी प्रूफ और निवास प्रमाण पत्र (यदि किराएदार है तो किरायानामा)
  • यही डॉक्यूमेंट बिल्डर के भी चाहिए।

50 लाख तक के फ्लैट रजिस्ट्री पर छूट (Discount on registration of flats up to Rs 50 lakh)

बहुमंजिला इमारत में 50 लाख रुपए तक के फ्लैट खरीद पर स्टाम्प ड्यूटी पर 2 प्रतिशत की छूट की समय सीमा एक साल बढ़ाकर 31 मार्च 2023 तक कर दी गई है। यह स्टाम्प ड्यूटी 6 प्रतिशत की जगह 4 प्रतिशत ही लगेगी।

वहीं सरकारी योजना के तहत जो बिल्डर काम कर रहे हैं, उसमें प्रॉपर्टी खरीदने वालों को 2.65 लाख रुपए अधिकतम सब्सिडी का प्रावधान है। पहली बार रजिस्ट्री कराने पर यह छूट केंद्र सरकार की ओर से मिलती है।

महिला के नाम से प्रॉपर्टी खरीदी तो दोहरा लाभ, सस्ता लोन और रजिस्ट्री में भी छूट | How to take loan against property in woman name

शहरों में महिलाओं के नाम पर प्रॉपर्टी खरीदने का चलन तेजी से बढ़ा है। बिजनेस और नौकरी दोनों में महिलाओं की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण प्रॉपर्टी खरीदने और रजिस्ट्री कराने में महिलाओं की भागीदारी पिछले 2 साल में सालाना 5 प्रतिशत की दर से बढ़ी है। यही कारण है कि बैंक भी पुरुषों की तुलना में महिलाओं को कुछ सस्ती दर पर होम लोन उपलब्ध करवा रहे हैं। इसमें जो सह- आवेदक वाली महिला भी शामिल हैं। इन्हें पुरुषों के मुकाबले 0.05 से 0.1 फीसदी तक सस्ता होम लोन मिल रहा है।

टैक्स में लाभ (tax benefits)

होम लोन के लिए आवेदन करने वाली महिलाओं को इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80सी के तहत लोन की मूल राशि पर 1.50 लाख तक कर छूट पाने का प्रावधान है। अधिकतम 2 लाख की कर छूट की अनुमति पूरी तरह से निर्मित घर के लिए गए होम लोन से जुड़े ब्याज पर दी जाती है। यानि, लोन में भी बचत का विकल्प है। 

रजिस्ट्री भी सस्ती (Registry is also cheap)

सामान्य तौर पर स्टॉम्प ड्यूटी 6 प्रतिशत है। इसके अलावा इस पर 30 प्रतिशत अलग-अलग सरचार्ज (आधारभूत सुविध), गौ संवर्धन और प्राकृतिक एवं मानव निर्मित आपदाओं से राहत) 30 प्रतिशत है। जबकि, रजिस्ट्रेशन फीस 1 प्रतिशत ले रहे हैं। महिलाओं को स्टाम्प ड्यूटी में एक प्रतिशत की छूट दी गई है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने